देश

बिहार चुनावः ASP प्रमुख चंद्रशेखर का आरोप ‘बिहार में कमज़ोर वर्ग असुरक्षा में जी रहा है।’

पटनाः आज़ाद समाज पार्टी के प्रमुथ चंद्रशेखर आजाद ने आरोप लगाया कि बिहार में कमजोर वर्ग असुरक्षा में जी रहा है। उन्होंने ये बातें बिहार में एक प्रेस कांफ्रेस में कहीं। बता दें कि चंद्रशेखर आज़ाद की पार्टी बिहार में जनाधिकार पार्टी के साथ गठबंधन करके चुनाव लड़ रही है। यह गठबंधन पूर्व लोकसभा सांसद पप्पू यादव की पार्टी जाप, एसडीपीआई, प्रकाश अंबेडकर की वीएबी में हुआ है। इस गठबंधन में पप्पू यादव को इसका नेता बनाया गया है, साथ ही मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार भी बनाया गया है।

पटना में प्रेस कांफ्रेंस में चंद्रशेखर आज़ाद ने कहा कि पप्पू यादव मुख्यमंत्री बनने से बिहार में दलितों-मुसलमानों और अन्य कमजोर वर्गों के लोगों को सुरक्षा मिलेगी। उन्होंने आरोप लगाया कि बिहार में कमजोर वर्ग असुरक्षा में जी रहा है। वहीं गठबंधन द्वारा सीएम उम्मीदवार घोषित किये जाने पर पप्पू यादव ने वादा किया कि उनके मुख्यमंत्री बनने के बाद अगर बिहार से पलायन नहीं रुका तो वे इस्तीफा दे देंगे। उन्होंने बिहार में बेहतरीन अस्पताल और स्कूल बनवाने का भी वादा किया। उन्होंने कहा कि फूड प्रोसेसिंग, शाहाबाद के धान, सीमांचल-मिथिला के माछ-मखान और मगध के पान से बिहार की जिंदगी बदल सकते हैं। साथ ही उन्होंने केला-लीची और जूट-गन्ना की खेती और इसपर आधारित उद्योग को बढ़ावा देने की बात भी कही।

प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते ASP प्रमुख चंद्रशेखर आज़ाद

उन्होंने आरोप लगाया कि पिछले 30 सालों में ‘दोनों भाइयों‘ ने बिहार के किसानों की जिंदगी बर्बाद कर दी। बाजार समिति खत्म कर दी गयी। उन्होंने कहा कि यदि सरकार बनी तो इसे बहाल किया जाएगा और हर अनुमंडल में कोल्ड स्टोरेज खोला जाएगा। उन्होंने बिहार में प्रति व्यक्ति कम आय के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को जिममेदार ठहराया।

यूपी की घटनाओं पर क्या बोले चंद्रशेखर

चंद्रशेखर आज़ाद ने यूपी में घट रही घटनाओं को लेकर ट्वीट किया है। उन्होंने कहा कि हाथरस केस की जाँच करने वाली CBI टीम में एक भी SC, ST, OBC, माइनॉरिटी का उच्चस्तरीय अफ़सर नहीं है। जबकि केस SC-ST एक्ट के तहत दर्ज हुआ है। CBI केंद्र सरकार के अधीन काम करती है, मैं मोदी जी से अनुरोध करता हूँ कि जाँच टीम को एकपक्षीय न बनाये। न्याय में पारदर्शिता बहुत जरूरी है।

चंद्रशेखर ने कहा कि चित्रकूट में एक दलित किशोरी के साथ 8 युवकों ने गैंगरेप किया और योगी की पुलिस बलात्कारियों को बचाती रही। न्याय ना मिलता देख निराश होकर पीड़िता ने आत्महत्या कर ली। गुंडो का संरक्षण व दलितों पर जुल्म कर रही योगी सरकार ये जान ले कि सरकार बदलती रहती है। हम सरकार बनाने की ताकत रखते है।