भारत बंद: टिकैत की चेतावनी, ‘क़ानून वापस लो नहीं तो पूरे देश में आंदोलन करके जहां-जहां चुनाव होगा वहां आपके चुनाव पर वोट की चोट करेंगे’

0
163

नई दिल्ली: किसानों द्वारा किए गए ‘भारत बंद’ पर भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने एक बार फिर सरकार को चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि  भारत सरकार नए कृषि क़ानूनों को जितनी ज़ल्दी वापस लेगी उतना सरकार को फायदा होगा नहीं तो संयुक्त किसान मोर्चा के लोग पूरे देश में जाएंगे आपके ख़िलाफ़ आंदोलन करेंगे। आपके जहां-जहां चुनाव होंगे आपके चुनाव पर वोट की चोट करने का काम करेंगे।

राकेश टिकैत ने बताया कि आज शाम 4 बजे तक बंद रहेगा। लोगों से अनुरोध है कि लंच के बाद ही निकलें, नहीं तो जाम में फंसे रहेंगे। एम्बुलेंस को, डॉक्टरों को, ज्यादा ज़रूरतमंदों को निकलने दिया जाएगा। दुकानदारों से भी अपील की है कि आज दुकानें बंद रखें।

किसान नेता ने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा के आव्हान पर देशभर में भारत बंद को मिला अभूतपूर्व समर्थन,नागरिकों को हो रही परेशानी के लिए क्षमा चाहते हैं लेकिन किसान भी 10 महीने से झेल रहे हैं तमाम परेशानियां,किसानों द्वारा आक्समिक वाहनों को निकलवाने व यात्रियों हेतु पानी चाय दूध के बेहतर इंतजाम किए गए हैं।

उन्होंने कहा कि मुठ्ठी भर किसान, कुछ राज्यों का आन्दोलन बताने वाले आंख खोलकर देख ले कि किसानो के आव्हान पर आज पूरा देश #भारत_बंद का समर्थन कर रहा है, बिना किसी दबाव व हिंसा के ऐतिहासिक #BharatBand जारी है सरकार कान खोल कर लें, कृषि कानूनों की वापसी व एमएसपी की गारंटी के बिना घर वापसी नहीं होगी।

कभी नही मिला इतना समर्थन

अखिल भारतीय किसान सभा के अध्यक्ष अशोक धवले ने भारत बंद को सफल बताते हुए कहा कि भारत बंद को पिछले कई सालों में इतना समर्थन कभी नहीं मिला था, 25 से ज़्यादा राज्यों में बंद कामयाब हुआ है। जब तक किसान विरोधी कानून वापस नहीं लिए जाते और MSP की गारंटी देने वाला केंद्रीय कानून न हो, हम तब तक संघर्ष करने के लिए तैयार हैं।


उन्होंने कहा कि हम संघर्ष को राजनीतिक रूप भी दे रहे हैं, केरल, तमिलनाडु, बंगाल चुनाव में भाजपा हारी। अगले 6 महीने में उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और पंजाब में विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं, संयुक्त किसान मोर्चा ने तय किया है कि इन तीनों राज्यों में हम भाजपा को हराएंगे।

विपक्ष ने किया समर्थन

किसान संगठनों ने आज #FarmLaws के खिलाफ भारत बंद का ऐलान किया है. बंद को #RahulGandhi ने समर्थन दिया है. राहुल  ट्वीट कर कहा, “किसानों का अहिंसक सत्याग्रह आज भी अखंड है लेकिन शोषण-कार सरकार को ये नहीं पसंद है. इसलिए आज भारत बंद है.” उन्होंने अपनी बात का अंत #istandwithfarmers हैशटैग का इस्तेमाल कर किया।

वहीं कांग्रेस नेता और दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष अनिल चौधरी गाजीपुर बॉर्डर पर कृषि क़ानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों के समर्थन में पहुंचे। प्रदर्शनकारियों ने इसे गैर राजनीतिक प्रदर्शन बताते हुए उन्हें धरना स्थल से उठने को कहा। उन्होंने कहा कि मैं किसानों की परेशानी समझ सकता हूं। कांग्रेस पार्टी सड़क पर अपना विरोध करेगी। किसान कहेंगे हमें यहां से जाना है, हम चले जाएंगे। हम यहां किसानों के लिए आए हैं। हमारा कोई राजनीतिक एजेंडा नहीं है।

कांग्रेस नेता जयवीर शेरगिल ने किसानों का समर्थन करते हुए कहा कि आज एक साल हो गया है जब तीन काले क़ानूनों के द्वारा देश की किसानी और किसान पर काले बादल ला दिए गए थे। आज हर भारतवासी को भाजपा का जो लक्ष्य है किसान और किसानी ख़त्म उसके खिलाफ आवाज़ उठानी चाहिए, भारत बंद का समर्थन करके।

वहीं हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि बातचीत से हल निकल सकता है, किसी की तरफ से भी कोई शर्त नहीं लगानी चाहिए। खुले दिल से बातचीत करनी चाहिए और इस समस्या का समाधान करना चाहिए।

केजरीवाल ने भी किया समर्थन

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी किसानों के भारत बंद का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि ये दुख की बात है कि उनके(शहीद भगत सिंह) जन्मदिवस पर किसानों को भारत बंद का आह्वान करना पड़ रहा है। अगर आज़ाद भारत में भी किसानों की नहीं सुनी जाएगी तो फिर कहां सुनी जाएगी? मैं केंद्र सरकार से अपील करता हूं कि जल्द से जल्द उनकी मांगे मानें।

Leave a Reply