देश

राजा महेंद्र प्रताप जिस विचारधारा को मानते थे उस विचारधारा से RSS और BJP हमेशा दूर भागते हैं।

मुझे 1945 में अग्रणी में, छपा हिंदू महासभा और आरएसएस का वह कार्टून नही भूलता, जिंसमे सावरकर और डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी, तीर लेकर, दशानन रावण के रूप में चित्रित गांधी के ऊपर शर संधान कर रहे हैं। गांधी के दस शिर के रूप में नेहरू, पटेल, आज़ाद और अन्य स्वाधीनता संग्राम के महत्वपूर्ण नेता […]

देश

सरकार की आलोचना और आयकर, ईडी के छापों में क्या कोई अन्तर्सम्बन्ध है?

आयकर और ईडी के छापे 2014 के पहले भी पड़ते थे और अब भी पड़ रहे हैं तथा आगे भी पड़ते रहेंगे। पर यह छापे अधिकतर व्यपारियो या संदिग्ध लेनदेन करने वालो, आय से अधिक संपत्ति की जांच में दोषी या संदिग्ध पाए जाने वाले अफसरों पर पड़ते थे। तब इन छापों की खबरों पर […]

देश

फर्जी डिग्री से लेकर फर्जी विज्ञापन तक, सब कुछ झूठ पर ही टिका है

2014 के बाद देश की राजनीति में सबसे महत्वपूर्ण परिवर्तन यह आया है कि झूठ या फर्जीवाड़ा, जो पहले लुकछिप पर कुछ अपराध बोध के साथ बोला या किया जाता था, वह अब अयां होने लगा है। खुलकर होने लगा है। राजनीति में सत्य और असत्य का भेद वैसे भी कभी नहीं रहा है और […]

देश

पूर्व IPS का सवाल: क्या सलाम कहना भी अब साज़िश का आधार है? कहानी गढ़ने वाली दिल्ली पुलिस को सलाम!

यूनाइटेड अगेंस्ट हेट के सदस्य खालिद सैफी ने शुक्रवार को दिल्ली की एक अदालत से कहा कि वह दिल्ली दंगों की साजिश मामले में (एफआईआर 59/2020) दायर चार्जशीट पर 20 लाख कागजात बर्बाद करने के लिए दिल्ली पुलिस के खिलाफ नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल में मामला दर्ज करेंगे। लीगल वेबसाइट, लाइव लॉ के अनुसार, अतिरिक्त सत्र […]

विशेष रिपोर्ट

राजा महेंद्र प्रताप ने अफगानिस्तान में बनाई थी पहली निर्वासित सरकार, मौलाना बरकतुल्ला ख़ां थे जिसके प्रधानमंत्री

मथुरा से जब आप हाथरस की ओर चलेंगे तो हाथरस जिले में प्रवेश करते ही एक कस्बा पड़ेगा मुरसान। मुरसान एक छोटा सा कस्बा है। वहां के राजा थे राजा महेंद्र प्रताप सिंह। राजा महेंद्र प्रताप उन विलक्षण और प्रतिभाशाली स्वतंत्रता संग्राम के सेनानियों में से एक रहे हैं जिन्होंने ब्रिटिश साम्राज्यवाद के खिलाफ भारत […]

देश

आज़ादी महोत्सव से नेहरू की तस्वीर ग़ायब और अंग्रेज़ों से पेंशन पाने वाले सावरकर की तस्वीर लगाने के मायने!

सरकार चाहती है कि, नेहरू और सावरकर बराबर चर्चा में बने रहें। लोग यह याद करते रहें कि नेहरू के ही सभापतित्व में पूर्ण आज़ादी का प्रस्ताव कांग्रेस ने 1930 में पारित किया था और  स्वाधीनता संग्राम में उनकी क्या भूमिका थी। लोग नेहरू की भूमिका को जानें। उनके योगदान का मूल्यांकन करें। उनकी खूबियों […]

चर्चा में देश

देश के 363 MLA/MP पर दर्ज हैं गंभीर अपराधिक मुकदमे, सबसे ज्यादा दाग़ी BJP में, क्या सुप्रीम कोर्ट लगाएगा राजनीति के अपराधीकरण पर अंकुश

राजनीति के अपराधीकरण पर लंबे समय से बहस चल रही है। भारत निर्वाचन आयोग भी इस दिशा मे कुछ न कुछ करता रहता है। अब चुनाव के हलफनामे में प्रत्याशी को अपने खिलाफ दर्ज मुकदमो का विवरण देना अनिवार्य कर दिया गया है। पर अपराधीकरण के इस गम्भीर मुद्दे पर सभी राजनीतिक दल, चर्चा तो […]

देश

पूर्व IPS का लेख: उमर ख़ालिद के मुकदमे में नंगी हो गई है दिल्ली पुलिस, शर्म फिर भी नहीं आती…

हाल के वर्षों में यदि किसी एक महानगर की पुलिस के पेशेवराना काम काज पर सवाल उठा है तो वह है दिल्ली पुलिस। हमलोग जब नौकरी में आये थे तो यह सुनते थे कि मुंबई पुलिस देश की सबसे पेशेवराना ढंग से काम करने वाली पुलिस है। पर बाद में दिल्ली पुलिस को राजधानी की […]

देश

कल्याण सिंह के पार्थिव शरीर पर भाजपा झंडे के नीचे दबे राष्ट्रध्वज के मायने! क्या कहता है संविधान?

कल्याण सिंह जी का निधन हो गया है। वे भाजपा के कद्दावर नेता थे, और यूपी के मुख्यमंत्री तथा राजस्थान के राज्यपाल रह चुके थे। वे एक अच्छे प्रशासक थे और अपनी प्रशासनिक क्षमता के लिये उनका कार्यकाल याद भी किया जाता है। 6 दिसम्बर 1992 को अयोध्या में बाबरी मस्जिद के गिरा देने के […]