शख़्सियत

जन्मदिन विशेष: डाॅ. मनमोहन सिंह जिनके ‘मौन’ ने सिखाया कि अधिक बोलना बुरा होता और झूठ बोलना तो और भी…

डॉ मनमोहन सिंह ने बिना कुछ कहे हमें समझाया है कि बहुत बोलना बुरा होता है, उसपर भी झूठ बोलना और ज्यादा बुरा. अगर ये देश के बारे में हो तो बुरा का मतलब विध्वंसक समझना चाहिए. सबसे मार्के की बात है कि सालों तक 18-18 घंटे झूठ बोलने से अपना विकास भले होता हो, […]

शख़्सियत

ज़रा याद करो क़ुर्बानी: वीर अब्दुल हमीद जिन्होंने पाकिस्तान के शक्तिशाली टैंकों को कब्रगाह में बदल दिया

भारत जब अपनी आजादी की लड़ाई लड़ रहा था, उसी दौरान 1933 में यूपी के गाजीपुर में एक लड़का पैदा हुआ। नाम था अब्दुल हमीद। ये बच्चा बड़ा होकर भारतीय सेना में भर्ती हो गया।  8 सितंबर, 1965 भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध छिड़ा हुआ है। पंजाब के खेमकरण क्षेत्र के चीमा गांव के […]

देश

RSS की विचारधारा को और तेज़ धार देती है ओवैसी की राजनीति, जिसके परिणाम घातक सिद्ध होंगे

कुछ लोग कहते हैं कि असददुद्दीन ओवैसी वोटकटवा हैं, बीजेपी की बी टीम हैं। ये सब कहना गलत है। वे या तो बीजेपी के दलाल हैं या फिर खूब तार्किक तकरीरें करने वाले बेवकूफ हैं। दूसरे की संभावना काफी कम है, इसलिए पहले का ही शक मजबूत होता है। इधर यूपी में वे खुलकर मुसलमानों […]

देश

जब अमेरिका में अश्वेत लोगों की लिंचिंग होती थी तब ज्यादातर गोरे उसके पक्ष में होते थे, लेकिन आज शर्मिंदा होते हैं

सौ साल पहले जब दक्षिणी अमेरिका में अश्वेत लोगों की लिंचिंग हो रही थी तो ज्यादातर गोरे अमेरिकी इसके पक्ष में थे। बहुत सारे गोरे इसके विरोध में आये तो उनको भी मार दिया गया। उसी दौरान 1901 में लेखक मार्क ट्वेन ने लिंचिंग के खिलाफ एक लेख लिखा था- The United States Of Lyncherdom. […]

इंसानियत की मिसाल

हिंदुस्तान की कहानी: बचपन में ही अनाथ हो गई थी पूजा, महबूब ने पिता बनकर निभाए तमाम फर्ज़

पूजा महज 8 साल की थी जब अनाथ हो गई थी. उसके माता-पिता दोनों की मौत हो गई. पूजा को उसके रिश्तेदारों ने अपनाने से मना कर दिया था. कोई सहारा नहीं था. ऐसे में महबूब मसली को लगा कि ऐसा नहीं होना चाहिए. किसी बच्चे के सिर से साया नहीं हटना चाहिए. महबूब बच्ची […]

देश

ह्वाटसप ‘विषद्यालय’ के नफरतबाजों का शर्मनाक कृत्य, मुस्लिम शख्स की मुंहबोली बहन को लेकर फैलाया झूठ

फेक न्यूज फैलाने वाले बड़े टैलेंटेड लोग हैं. 18 घंटे मेहनत करते हैं. तबाही लाने वाले कम मेहनती नहीं होते. बस वे गलत दिशा में मेहनत करते हैं. ये बात मैं मीडिया में रहते हुए अपने अनुभव से कहता हूं. कुछ नजीरें पेश हैं. रक्षाबंधन पर बड़ी संख्या में खबरें आईं कि हिंदू और मुसलमान […]

देश

भारत की जनता को हिंसा और तबाही के दलदल में धकेला जा रहा है

मध्य प्रदेश तेजी से लिंच मॉब का सैरगाह बन रहा है. इस प्रदेश में हर दिन हैवानियत का नंगा नाच हो रहा है. पहले एक चूड़ी बेचने वाला, फिर एक फेरीवाला, अब एक आदिवासी. नीमच में एक आदिवासी युवक को चोर होने के शक में पीटा गया. फिर उसे पिकअप में बांधकर सड़क पर घसीटा […]

इंसानियत की मिसाल

हिंदुस्तान की कहानी: जब चूड़ी वाले को उसके धर्म की वजह से पीटा जा रहा था, तब मुश्ताक मंदिर के लिए ज़मीन…

जब कुछ लोग फेरीवाले गरीबों को उनके मजहब के आधार पर पीट रहे हैं, उसी समय एक मुसलमान लोगों की आस्था को सींचने के लिए मंदिर के लिए भूमिपूजन कर रहा है। हम आप नफरत फैलाने वालों को तुरंत जान जाते हैं, लेकिन इंसानियत बचाने वालों के बारे में कुछ नहीं जानते। दौर ही ऐसा […]

चर्चा में

नफ़रत की सियासत: यह संयोग नहीं, अंगरेजी प्रयोग था, यही अब ‘न्यू इंडिया’ का संघी प्रयोग है।

ये क्रोनोलॉजी 164 साल पुरानी है। आज ऐसे ही पढ़ते हुए एक हाथ लगी। इस क्रोनोलॉजी के तार अंग्रेजों से जुड़े हैं। समझ लें, काम आएगी। साल था 1857, यही आज वाली दिल्ली थी। शायर मिजाज बादशाह बहादुर शाह जफर दिल्ली की गद्दी पर हुआ करते थे। मंगल पांडेय के साथ भारतीय सैनिकों ने अंगरेज […]

इंसानियत की मिसाल

हिंदुस्तान की कहानी: कॉलोनी में मंदिर न होने की वजह से हिंदुओं को होती थी परेशानी हाजी यासीन ने दान कर दी ज़मीन

नई कॉलोनी में ज्यादातर हिंदू थे। वहां पर कोई मंदिर नहीं था। कॉलोनी के हिंदुओं के लिए पूजा करने के लिए दूसरी जगहों पर जाना पड़ता था। उसी कॉलोनी में हाजी यासीन की भी 112 गज जमीन थी। हाजी यासीन को इस परेशानी के बारे में पता चला। उन्होंने अपनी लाखों की कीमत की जमीन […]