महास्कोर के साथ इंग्लैंड तोड़े 5 विश्व रिकॉर्ड, 145 साल में हुआ ऐसा पहली बार, पाक ने बनाया अनचाहा रिकॉर्ड

17 साल बाद पाकिस्तान के दौरे पर आई इंग्लैंड क्रिकेट टीम ने इतिहास रच दिया. रावलपींडी में खेल जा रहे पहले टेस्ट के पहले दिन टेस्ट क्रिकेट के 145 साल का इतिहास बदल गया. टेस्ट क्रिकेट में ऐसा पहली बार हुआ है जब पहले ही दिन किसी टीम ने 500 से अधिक का स्कोर बनाया हो. इंग्लैड के 4 बल्लेबाजों ने शतक जड़े.

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी इंग्लैंड की शुरूआत बेहद शानदार रही. दोनो सलामी बल्लेबाज जैक क्रावले और बेन ड्यूकेट ने पहले विकेट के लिए 233 रन की शानदार साझेदारी की. क्रावले ने 111 गेंदों पर 21 चौकों की मदद से 122 रन बनाए. दूसरी तरफ ड्यूकेट ने 15 चौको की मदद से 110 गेंदों पर 107 रन की पारी खेली.

नम्बर तीन पर बल्लेबाजी करने उतरे विकेटकीपर ओली पोप ने 104 गेंदों पर 14 चौके लगाकर 108 रन बनाए. कप्तान जोए रूट 23 रन बनाकर आउट हुए. वहीं हैरी ब्रूक ने 81 गेदों पर 14 चौके और 2 छक्के लगाकर 104 रन की नाबाद पारी खेली. दूसरी तरफ बेन स्टोक्स 15 गेंदों पर 34 रन बनाकर नाबाद रहे.

पहले दिन का खेल समाप्त होने तक इंग्लैंड ने 75 ओवर में 4 विकेट खोकर 506 रन बनाए. पाकिस्तान के लिए जाहिद महमूद ने दो विकेट लिए. एक-एक विकेट मोहम्मद अली और हारिस रऊफ को मिला.

इंग्लैंड ने मैच के पहले 75 ओवर में 4 विकेट खोकर 506 रन बनाए. यह टेस्ट क्रिकेट में पहले दिन सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड है. इससे पहले 72 ओर में चार विकेट के नुकसान पर 478 रन था.

1. कभी नहीं बने पहले दिन चार शतक
टेस्ट इतिहास में कभी भी मैच के पहले ही दिन चार शतक नहीं बने, लेकिन इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने यह रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिया. पहले दिन जैक क्रॉले (122), बेन डकेट (107), ओली पोप (108) और हैरी ब्रूक (101) ने शतक जड़े. यह वह कारनामा है, जो इससे पहले टेस्ट क्रिकेट में पहले ही दिन नहीं ही हुआ था.

2. इंग्लैंड के लिए बना सबसे तेज दूसरा टेस्ट शतक
ऐसा लग रहा है कि इंग्लैंड की टी-20 शैली अब टेस्ट पर भी हावी होने लगी है. हैरी ब्रूक ने ऐसा तूफानी (नाबाद 101 रन, 81 गेंद , 14 चौके, 2 छक्के) शतक बनाया कि सब देखते रह गए. और उनका यह शतक इंग्लैंड के लिए जॉर्नी बैर्यस्टो (77 गेंद) के बाद दूसरा सबसे शतक रहा. साथ ही, हैरी टेस्ट 80 गेंदों पर शतक जड़ने वाले संयुक्त रूप से तीसरे बल्लेबाज बन गए. उनके अलावा क्रिस गेल, सरफराज अहमद ने इतनी ही गेंदों पर टेस्ट में शतक जड़ा है.

3. पहले कभी नहीं बना पहले दिन इतना स्कोर
इंग्लैंड ने पहले ही दिन चार विकेट पर 506 का स्कोर खड़ा कर दिया. और वह भी सिर्फ 75 ओवरों में 4 विकेट के नुकसान पर. यह वह तूफानी स्कोर रहा, जो टेस्ट इतिहास के करीब 145 इतिहास में कभी नहीं हुआ. जी हां, पहले किसी भी टेस्ट के पहले दिन पांच सौ से ऊपर का स्कोर नहीं ही बना, लेकिन इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने 6.75 के औसत से रन बटोर डाले.

4. सबसे तेज द्विशतकीय साझेदारी
जैक क्राले और बेन डकेट ने पहले विकेट के लिए 233 रन की साझेदारी की. यह कारनामा इन दोनों ने 35.4 ओवरों में ही कर डाला. और रन बनाने की गति 6.53 प्रति ओवर रही. यह टेस्ट इतिहास में पहले विकेट के लिए दो सौ या इससे ज्यादा रन की सबसे तेज गति की साझेदारी रही.

5. एक ही ओवर में जड़े छह चौके
करियर का पहला टेस्ट खेल रहे साद शकील की मनोदशा क्या होगी, यह सहज समझा जा सकत है. हैरी ब्रक ने उनके ओवर में छह चौके जड़ डाले और यह टेस्ट इतिहास में सिर्फ पांचवां मौका रहा, जब किसी बल्लेबाज ने एक ही ओवर में छह चौके जड़े. इससे पहले संदीप पाटिल (1982), गेल और हेडेन (2004), रामनरेश सरवन (2006) और सनथ जयसूर्या (2007) में ऐसा कर चुके हैं.