जानिए ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ II अपने पीछे छोड़ गईं कितनी दौलत?

0
89

ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का गुरुवार को 96 साल की उम्र में निधन हो गया। वह दुनिया के सबसे शक्तिशाली लोगों में शामिल थीं। वह दुनिया की अकेली ऐसी महिला थीं जिन्हें विदेशी यात्रा के लिए पासपोर्ट या वीजा की जरूरत नहीं पड़ती थी। लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि 96 साल की महारानी के पास कितना पैसा था और उनकी आय का प्रमुख स्रोत क्या था?

कई रिपोर्ट्स में इसे लेकर अलग-अलग तरह के दावे किए गए हैं। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि शाही परिवार के सदस्यों को करदाताओं की तरफ मोटी रकम प्राप्त होती है। जबकि शाही परिवार की आय के अन्य स्रोत अज्ञात हैं। खबरों की मानें तो महारानी की आय के तीन मुख्य स्रोत थे। इनमें सोवेरिन ग्रांट, प्रिवी पर्स और उनकी निजी संपत्ति से होने वाली आय शामिल है।

ब्रिटेन की महारानी की संपत्ति के बारे में अक्सर अनुमान लगाया जाता है लेकिन खुद महारानी की तरफ से इस बारे में कभी कुछ सार्वजनिक नहीं किया गया। लेकिन उनकी आय के आधार पर कुछ विशेषज्ञों ने इस संबंध में अपना अनुमान लगाया है। गुडटू नामक वेबसाइट की रिपोर्ट के अनुसार, साल 2022 में महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की अनुमानित कुल संपत्ति 365 मिलियन पाउंड यानी 33.36 अरब रुपए से अधिक थी। संडे टाइम्स रिच लिस्ट के अनुसार यह 2020 में उनकी कुल संपत्ति से 15 मिलियन पाउंड अधिक थी और इसमें उनकी निजी आय और सोवेरिन ग्रांट शामिल है।

पिछले कुछ साल में महारानी पेपर की सालाना रिच लिस्ट में 30 स्थान तक नीचे गिर गईं। 2020 में वह 372वें स्थान पर थीं और 2018 के बाद से यह 30 स्थानों की गिरावट थी। पूरे राजशाही परिवार की संपत्ति की बात करें तो फोर्ब्स मैग्जीन के अनुसार, उनकी कुल संपत्ति 72.5 बिलियन पाउंड (6,631 अरब रुपए से अधिक) है। महारानी के आय के प्रमुख स्रोतों के बारे में बात करें तो उन्हें सोवेरिन ग्रांट वार्षिक तौर पर सरकार से प्राप्त होती थी, जबकि बाकी दो स्रोत स्वतंत्र थे (प्रिवी पर्स महारानी की निजी आय होती है) जिनमें करदाताओं का पैसा शामिल नहीं था।

कुछ लोगों का मानना है कि महारानी को बकिंघम पैलेस, विंडसर कैसल और टॉवर ऑफ लंदन जैसी शाही संपत्तियों में आने वाले लोगों से पैसा मिलता था। हालांकि यह सच नहीं है। इस राजस्व का इस्तेमाल द रॉयल कलेक्शन के लिए किया जाता था। लंदन के अलावा शाही परिवार की संपत्ति स्कॉटलैंड, वेल्स और उत्तरी आयरलैंड में भी है। यह महारानी की निजी संपत्ति है जिसे बेचा नहीं जा सकता बल्कि यह उनके उत्तराधिकारियों को हस्तांतरित होगी।

इसके अलावा महारानी की संपत्ति में कई बेशकीमती कलाकृतियां, हीरे-जेवरात, लग्जरी कारें, शाही स्टैंप कलेक्शन और घोड़े शामिल हैं। रॉयल कलेक्शन में 10 लाख से ज्यादा चीजें शामिल हैं जिनकी अनुमानित कीमत 10 खरब रुपए है। हालांकि यह संपत्ति ब्रिटेन के एक ट्रस्ट के पास है। ब्रिटेन के नए राजा किंग चार्ल्स की सालाना आय के बारे में बात करें तो उन्हें हर साल Duchy of Cornwall से करीब 21 मिलियन पाउंड की आय प्राप्त होती है।

Leave a Reply