क्रिकेट छोड़ते ही गरीबी में जीने को मजबूर हुए ये 5 खिलाड़ी, कोई बना ट्रक ड्राइवर तो कोई चौकीदार

0
226

क्रिकेटर अपनी लग्जरी लाइफ जीने के लिए जाने जाते हैं. आपने कई क्रिकेटर्स को गरीब से अमीर बनते हुए देखा होगा, लेकिन क्या आप उन खिलाड़ियों को जानते हो जो इंटरनेशनल क्रिकेट खेलने के बाद अमीर से गरीब बने हैं. आज हम आपको ऐसे ही 5 खिलाड़ियों के बारे में बताएंगे.

मैथ्यू सिनक्लेयर (Mathew Sinclair) न्यूजीलैंड के क्रिकेटर हैं. उन्होंने साल 2013 में इंटरनेशनल क्रिकेट से भी संन्यास ले लिया था. संन्यास लेने के बाद उनके परिवार को कई समस्याओं का सामना करना पड़ा था. सिनक्लेयर अपने परिवार को पालने के लिए अब रियल स्टेट कंपनी में काम कर रहे हैं.

Mathew Sinclair: “I'm an RCB fan. India could run the IPL for a year and wouldn't have to worry about international cricket.” – Live Cricket Onlineन्यूजीलैंड के पूर्व क्रिकेटर क्रिस केर्न्स (Chris Cairns) ने 2004 में संन्यास ले लिया था. संन्यास लेने के बाद क्रिस ने हीरो का कारोबार शुरू किया, जिसमें उन्हें काफी नुकसान झेलना पड़ा. इसके बाद परिवार को पालने के लिए वे ड्राइविंग और ट्रक धोने का काम तक करते थे.

Once famed Pakistan spinner, Arshad Khan drives a cab in Sydney- The New Indian Expressअरशद खान (Arshad Khan) पाकिस्तान क्रिकेट टीम के शानदार स्पिन गेंदबाज रहे हैं. 58 वनडे और 9 टेस्ट मैच खेलकर इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास लेने वाले अरशद खान को संन्यास लेने के बाद टैक्सी चलाने का काम करना पड़ा. ऑस्ट्रेलिया में जाकर टैक्सी चलाने के बाद उनके अच्छे दिन लौटे.

Former England cricket star Adam Hollioake declared bankrupt | Cricket | The Guardian
इंग्लैंड के लिए खेलने वाले एडम हॉलिओके (Adam Hollioake) अपने दौर के बेस्ट ऑलराउंडर माने जाते थे. जब एडम ने क्रिकेट से संन्यास ले लिया तो उन्हें बहुत आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ा. उन्होंने मिक्स्ड मार्शल आर्ट में काम करके अपने परिवार का पालन-पोषण करना शुरू किया था.

Cricketer Who Became Poor after retirement Mathew Sinclair Janardan Navle Arshad Khan | Cricket Facts: ये 5 दिग्गज खिलाड़ी गरीबी में अपनी जिंदगी जीने पर हुए मजबूर, खेल के समय थे खूबइस लिस्ट में एक भारतीय क्रिकेटर भी शामिल है. जनार्दन नेवले (Janardan Navle) ने अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत साल 1934 में की थी. क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद उन्होंने एक चीनी मिल में सुरक्षा गार्ड के रूप में काम किया था. 7 सितंबर 1979 में उनका निधन हो गया.

Leave a Reply