उमरान की मेहनत पर शार्दुल ने फेरा पानी, हार के बाद भड़के धवन ने सुनाई खरी-खोटी, 4 साल से नहीं जीता भारत

टॉम लेथम और केन विलियमसन के बीच 200 प्लस रनों की रिकॉर्ड साझेदारी के दम पर न्यूजीलैंड ने भारत को ऑकलैंड में खेले गए पहले वनडे (New Zealand vs India, 1st ODI) में 7 विकेट से हरा दिया है। New Zealand vs India, 1st ODI में भारत ने 7 विकेट पर 306 रनों का तगड़ा स्कोर बनाया था। मेजबान टीम ने 47.1 ओवर में 3 विकेट खोकर 309 रन बनाकर मुकाबला (New Zealand vs India, 1st ODI) जीत लिया।

न्यूजीलैंड ने 88 रन के स्कोर पर 3 विकेट गंवा दिए थे। इसके बाद भारतीय गेंदबाज विकेट को तरस गए। कप्तान केन विलियमसन और टॉम लेथम के बीच चौथे विकेट के लिए 165 गेंदों में 221 रनों की साझेदारी के चलते न्यूजीलैंड को इस दौरे पर पहली जीत का स्वाद चखने को मिला। लेथम ने 7वां वनडे शतक लगाया। उन्होंने 19 चौके और 5 छक्के की मदद से 145 रनों की नाबाद पारी खेली।

वहीं विलियमसन ने 98 बॉल में 94 नाबाद रन बनाए। उन्होंने 7 चौके और एक छक्का लगाया। ये उनके वनडे करियर का 40वां अर्धशतक था। इसके अलावा फिन एलेन ने 22, डेवोन कॉनवे ने 24 और डेरिल मिचेल ने 11 रन बनाए। टीम इंडिया की ओर से तेज गेंदबाज उमरान मलिक ने 10 ओवर में 66 रन देकर 2 विकेट झटके। एक विकेट शार्दूल ठाकुर ने लिया।

न्यूजीलैंड से पहले बल्लेबाजी का न्योता पाने के बाद भारतीय टीम ने निर्धारित 50 ओवर में 7 विकेट पर 306 रनों का स्कोर खड़ा किया। मेहमान टीम की ओर से तीन खिलाड़ियों के बल्ले से अर्धशतक निकले। श्रेयस अय्यर ने 76 बॉल में सर्वाधिक 80 रनों की पारी खेली।

वहीं कप्तान शिखर धवन ने 77 बॉल में 72 रनों की अर्धशतकीय पारी खेली। वहीं शुभमन गिल ने 65 गेंदों का सामना करते हुए 50 रन बनाए। अय्यर ने 13वां, धवन ने 39वां और शुभमन ने चौथा अर्धशतक लगाया।

इन दोनों खिलाड़ियों के अलावा ऑलराउंडर वॉशिंग्टन सुंदर ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी का नजारा पेश करते हुए 16 गेंदों में नाबाद 37 रन जड़ दिए। वहीं 306 रनों के स्कोर में संजू सैमसन ने 36 रनों का योगदान दिया। न्यूजीलैंड की तरफ से टिम साउदी और लोकी फर्ग्युसन ने 3-3 विकेट चटकाए। जबकि एक विकेट एडम मिलने के खाते में आया।

हार के बाद धवन का बयान

हमें कुल मिलाकर अच्छा लगा। पहले 10-15 ओवर की गेंद ने काफी कुछ किया। यह दूसरे मैदानों से थोड़ा अलग है। उसी के अनुसार योजना बनानी होगी। आज हमने शॉर्ट ऑफ लेंथ गेंदबाजी की और लेथम ने वहां हम पर आक्रमण किया। यहीं से उन्होंने हमसे खेल छीन लिया, खासकर 40वें ओवर में। यहीं से गति बदल गई। यहां खेलने में वाकई मजा आता है।

अगर हम जीत जाते तो ज्यादा खुशी होती लेकिन यह एक हिस्सा है। वे सभी युवा लड़के हैं और उनके लिए बहुत कुछ सीखने को मिल रहा है। गेंदबाजी पक्ष और क्षेत्ररक्षण पक्ष भी (किन क्षेत्रों में सुधार की आवश्यकता है?) हमें अपनी योजनाओं को और अधिक समझदारी से लागू करने की जरूरत है और यह सुनिश्चित करना होगा कि हम बल्लेबाजों को उनके बल पर न खेलने दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *