इस भारतीय के 51 साल पुराने रिकॉर्ड की बराबरी की, लाबुशेन ने मैच में बनाए तीन शतक, बने ऐसे पहले बैटर

ऑस्ट्रेलिया के धाकड़ बाल्लेबाज मार्नस लाबुशेन ने पर्थ में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेले जा रहे सीरीज के पहले टेस्ट मैच की दूसरी पारी में शतक जड़कर धमाल कर दिया. इसी मैच की पहली पारी में दोहरा शतक(204) जड़ने वाले लाबुशेन एक टेस्ट मैच में दोहरे शतक के साथ शतक जड़ने वाले दुनिया के आठवें और तीसरे ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज बन गए हैं.

विंडीज के खिलाफ मौजूदा पर्थ टेस्ट की पहली पारी में लाबुशेन ने 350 गेंद में 204 रन की पारी खेली थी. इसी फॉर्म को उन्होंने दूसरी पारी में भी जारी रखा और इस बार तेजी से बल्लेबाजी करते हुए 110 गेंद में 104 रन जड़ दिए. इसके साथ ही लाबुशेन का नाम टेस्ट क्रिकेट की रिकॉर्ड बुक के स्पेशल पन्ने में दर्ज हो गया

ऑस्ट्रेलिया के डग वॉल्टर साल 1969 में ये उपलब्धि हासिल करने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बने थे. उसके बाद साल 1971 में भारत के सुनील गावस्कर ऐसा करने वाले दुनिया के दूसरे बल्लेबाज बने थे. लाबुशेन से पहले डग वॉल्टर(ऑस्ट्रेलिया), सुनील गावस्कर(भारत), लॉरेंस रोव(वेस्टइंडीज), ग्रेग चैपल(ऑस्ट्रेलिया), ग्राहम गूच(इंग्लैंड), ब्रायन लारा(वेस्टइंडीज), कुमार संगकारा(श्रीलंका) ने ये कारनामा किया था. इनमें से दो खिलाड़ी तो ऐसे हैं जिन्होंने एक टेस्ट में तिहरा शतक जड़ने के बाद सैकड़ा पूरा किया था.

3 thoughts on “इस भारतीय के 51 साल पुराने रिकॉर्ड की बराबरी की, लाबुशेन ने मैच में बनाए तीन शतक, बने ऐसे पहले बैटर

Comments are closed.